Kangana Ranaut Kuldevi

Kangana Ranaut - राजस्थान के जगत गाँव से संबंध, Kangana Ranaut - Relation from Jagat Village in Rajasthan

क्या आप जानते हैं कि मशहूर फिल्म अभिनेत्री कंगना रानावत राजस्थानी है और उनका राजस्थान से गहरा रिश्ता है? कंगना अपने इस रिश्ते को निभाने के लिए राजस्थान के एक छोटे से गाँव में अपनी कुल देवी के मंदिर में आती रहती है?

निश्चित रूप से अब आप इस प्रश्न का उत्तर जरूर जानना चाहेंगे कि आखिर कौनसा है वो गाँव और कौन है वो कुल देवी, जिनका कंगना से रिश्ता है.

Kangana Ranaut Native Village and Kuldevi

आपकी जिज्ञासा को और अधिक ना बढ़ाते हुए हम आपको उस गाँव और उस मंदिर के बारे में बताते हैं. उस गाँव का नाम है जगत और मंदिर है अम्बिका माता का.

जगत गाँव राजस्थान के उदयपुर जिले में एक छोटा सा गाँव है. गाँव छोटा है लेकिन इसका इतिहास एक हजार वर्ष से भी ज्यादा पुराना है.

इसी गाँव में एक हजार वर्ष पुराना अम्बिका माता का मंदिर है जिसे महिसासुर मर्दिनी के नाम से भी जानते हैं. इस मंदिर को राजस्थान का खजुराहो कहा जाता है.

जगत गाँव और अम्बिका माता के मंदिर से कंगना रानावत का पुश्तैनी रिश्ता है. दरअसल कंगना रानावत के पुरखे लगभग 150 वर्षों पहले तक इसी गाँव में रहते थे.

बाद में किसी वजह से यहाँ के रानावत परिवारों को जगत छोड़ना पड़ा. जगत छोड़ने के बाद कंगना के पूर्वज भी दूसरे रानावत परिवारों के साथ हिमाचल प्रदेश के मंडी में जाकर बस गए.

How did Kangana come to know about her ancestral village and Kuldevi?

अब प्रश्न उठता है कि कंगना को अपने पुश्तैनी गाँव और कुलदेवी के बारे में कैसे पता चला? इसके बारे में कंगना खुद बताती है कि उनकी माताजी को सपने में कुछ लडकियाँ और देवी माँ दिखाई देती थी.

माताजी ने पंडितों से पूँछा तो उन्होंने इसका सम्बन्ध उनकी कुलदेवी से होना बताया और कुलदेवी के दर्शन करने की सलाह दी.

Also Read Jhala Man Singh - अपने प्राण देकर महाराणा प्रताप को बचाया

कंगना की माताजी को ना तो इस पुश्तैनी गाँव और ना ही इस मंदिर के बारे में पता था, उन्हें सिर्फ इतना पता था कि उनके पूर्वज उदयपुर में कही रहते थे.

तब उन्होंने कंगना को ये बात बताई और अपनी कुलदेवी को खोजने के लिए कहा. कंगना ने काफी कोशिश करके आखिर अपने इस पुश्तैनी गाँव और रानावत परिवारों की कुलदेवी के मंदिर को ढूँढ निकाला.

Kangana built Ambika Mata Mandir at Mandi in Himachal Pradesh

मंदिर का पता लगने पर वर्ष 15 अक्टूबर, 2018 को कंगना इस मंदिर में आई. यहाँ पूजा अर्चना करने के बाद इस मंदिर की ज्योत अपने वर्तमान गृह जिले हिमाचल प्रदेश के मंडी में ले गईं.

मंडी में इन्होने इसी शैली में माता का मंदिर बनवाया ताकि इनके साथ दूसरे रानावत परिवार भी अपनी कुलदेवी के दर्शन कर सकें.

इसके बाद कंगना लगातार जगत गाँव में अपनी कुलदेवी के दर्शनों के लिए आती रहती हैं. जब इनके भाई की शादी हुई थी तब भी इनका पूरा परिवार माता के दर्शनों के लिए आया था.

अब आप कंगना रानावत के राजस्थान के उदयपुर जिले के एक छोटे से गाँव और इस गाँव में मौजूद इनकी कुलदेवी के मंदिर से रिश्ते के बारे में जान गए होंगे.

कंगना का अपनी कुलदेवी से जुड़ाव, कंगना के बॉलीवुड के उस बोल्ड रूप से बिलकुल भी नहीं मिलता है जो हमें फिल्मों में दिखता है.

इससे पता लगता है कि जो जैसा फिल्मों में दिखता है, असल जिंदगी में वैसा होता नहीं है. हिमाचल में बसने के बाद भी कंगना का अपनी कुलदेवी में विश्वास यही दिखाता है.

Also Watch Video below

Written By

ramesh sharma

Ramesh Sharma (M Pharm, MSc (Computer Science), MA (History), PGDCA, CHMS)

Disclaimer

आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं और इस में दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई हो सकती है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. लेख की कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार Khatu.org के नहीं हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति Khatu.org उत्तरदायी नहीं है.

आलेख की जानकारी को पाठक महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी. अगर आलेख में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी सलाह दी गई है तो वह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें.

Connect With Us on YouTube

Travel Guide
Health Show