Ambika Mata Temple Kanwat Sikar - Places to Visit and History

सीकर जिले के नीमकाथाना जयपुर मार्ग पर कांवट क़स्बा स्थित है. प्राचीन समय में इस कस्बे को कान्हा निर्वाण की ढाणी के नाम से जाना जाता था.

उस समय यह क़स्बा नदी के तट पर स्थित था जिसके तीनों तरफ नदी बहा करती थी. नदी तट पर बसे होने की वजह से धीरे-धीरे इसका नाम कांवट पड़ गया. यह क़स्बा धार्मिक एवं व्यापारिक केंद्र के रूप में विख्यात था.

कालांतर में नदी पूरी तरह से सूख गई लेकिन कस्बे के धार्मिक स्थल जैसे अम्बिका माता का मंदिर, जमवाय माता का मंदिर, गढ़ बालाजी का मंदिर, सीताराम जी का मंदिर आदि आज भी मौजूद है.

आज हम यहाँ के उस प्रमुख मंदिर के सम्बन्ध में बात करते हैं जिसके साथ एक किवदंती भी जुडी हुई है, यह मंदिर है अम्बिका माता का मंदिर. अम्बिका माता का मंदिर कांवट कस्बे में रेलवे स्टेशन रोड पर एक पहाड़ी पर स्थित है. यह मंदिर 300 वर्ष पुराना बताया जाता है.

Story of Saint Singhaji of Ambika Mata Kanwat

मंदिर से जुडी एक किवदंती के अनुसार वर्षों पूर्व इस पहाड़ी पर सिंहाजी या सिंगाजी नामक तपोनिष्ट संत रहा करते थे. ये हिंगलाज माता के परम भक्त थे.

सिंहाजी अपने तपोबल से रोज हिंगलाज माता के दर्शनों के लिए हिंगलाज जाया करते थे. वृद्धावस्था में जाने में अक्षम होने के कारण इन्होने माता से यहीं कांवट कस्बे में ही दर्शन देने की विनती की.

माता ने इनकी विनती स्वीकार कर इन्हें कांवट की एक पहाड़ी पर पत्थर रूप में स्वयं प्रकट होकर दर्शन दिए. बाद में इस स्थान पर भामाशाहों की मदद से मंदिर का निर्माण करवाया गया.

कालांतर में कई श्रद्धालुओं की मन्नत पूर्ण होने पर समय-समय पर मंदिर के जीर्णोद्धार के साथ-साथ मंदिर तक जाने के लिए सीढियाँ बनाई गई. ऊपर मंदिर तक जाने के लिए 185 सीढियाँ चढ़नी पड़ती है. यहाँ पर आसोज नवरात्र शुक्ल पक्ष नवमी को विशाल मेले का आयोजन होता है.

पहाड़ी के ऊपर से कांवट कस्बे का विहंगम दृश्य दिखाई देता है. अगर आप इस कस्बे में आये हैं तो आपको माता के दर्शन अवश्य करने चाहिए.

Also Watch Video below

Written By

rachit sharma

Rachit Sharma {BA English (Honours), University of Rajasthan}

Disclaimer

आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं और इस में दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई हो सकती है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. लेख की कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार Khatu.org के नहीं हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति Khatu.org उत्तरदायी नहीं है.

आलेख की जानकारी को पाठक महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी. अगर आलेख में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी सलाह दी गई है तो वह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें.

Connect With Us on YouTube

Travel Guide
Khatu Blog
Khatu Darshan